हरियाणा रोडवेज के परिचालक नरेंद्र कुमार ने यात्रियों से भरी बस को कैसे बचाया, रोहतक में किया गया समानित

रोहतक :- हरियाणा रोडवेज की पलवल चंडीगढ़ रूट पर जाने वाली बस को चलाने वाले ड्राइवर की अचानक ज्यादा तबीयत खराब हो गई। ड्राइवर को घरौंडा के नजदीक पहुंचते ही हार्ट अटैक आ गया। ऐसे में बस अनियंत्रित हो गई और यात्रियों में अफरा तफरी मच गई ।

Rohtak
Rohtak

इस मौके पर सवारी के लिए हरियाणा रोडवेज के परिचालक एक फरिश्ता बनकर आए। नरेंद्र कुमार ने अपने सूझबूझ और समझदारी से चालक और बस दोनों को संभाला ‌।

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

परिचालक ने सूझबूझ से बचाई 30 यात्रियों की जान

पलवल चंडीगढ़ रूट पर रोडवेज बस को चलाने वाले ड्राइवर को हार्ट अटैक आने से करीब 30 सवारी की जान खतरे में पड़ गई। ऐसे में नरेंद्र कुमार ने अपने सूझबूझ से 4 किलोमीटर तक बस को नियंत्रण में रखा। इस बहादुर कार्य के लिए हरियाणा रोडवेज की रोहतक यूनियन ने नरेंद्र कुमार को सम्मानित किया ।

See also  Top 5 bus stands of Haryana Roadways which look like foreign bus stands in appearance and Cleanliness

डिपो प्रधान दिनेश सैनी से उनके साहस व धैर्य को देखते हुए उन्हें भविष्य में भी बहादुरता से कार्य करने के लिए प्रेरित किया, सा ही उन्होंने कहा कि नरेंद्र कुमार बाकी सभी कर्मचारियों के लिए भी एक बहुत बड़ा उदाहरण है। सभी को सीखना चाहिए कि कठिन परिस्थितियों में धैर्य रखकर हम हर सफल कम कर सकते हैं

।वहां मौजूद लोगों ने नरेंद्र को सम्मानित किया और उन्हें ट्रॉफी दी ।यूनियन की तरफ से सरकार से भी निवेदन किया गया कि इस प्रकार के बहादुर कार्य करने पर कर्मचारियों को विशेष रूप से प्रोत्साहित किया जाए। इससे व्यक्ति के साहस को और ज्यादा सराहना मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker