Chakka Jam: हरियाणा रोडवेज कर्मियों का चक्का जाम, देखे किस जिले में हड़ताल का कितना असर

जींद :- शुक्रवार को संयुक्त किसान मोर्चा को लेकर भारत बंद का ऐलान किया गया था। सभी जिलों में पुलिस बल तैनात किया गया, ताकि किसी भी प्रकार का उपद्रव न हो। केवल किसानों ने ही नहीं बल्कि हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों ने भी बसों का चक्का जाम किया, जिस वजह से यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

कई अन्य सरकारी विभाग के कर्मचारी भी सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। हरियाणा में किसी भी जिले में उपद्रव जैसी खबर सामने नहीं आई है।

See also  Ambala News: यात्रियों की हुई बल्ले बल्ले,अंबाला डिपो को मिली 26 एक दम न्यू लुक बीएस 6 वाली बसें, इन रूटों पर बढ़ेगी सेवा

जींद में आंदोलन के चलते कुछ समय से बंद किया गया इंटरनेट

किसान आंदोलन के चलते हरियाणा के कुछ जिलों में काफी समय से इंटरनेट की सुविधा बंद कर दी गई है। जींद में भी पिछले कुछ दिन से इंटरनेट बंद किया गया है। आज भारत बंद के आह्वान में भी जींद के रोडवेज कर्मचारियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है। वहीं कोई भी प्राइवेट कर्मचारी इस आंदोलन का हिस्सा नहीं बनी है। जींद से केवल चार लंबे रूट पर बस को रवाना किया गया है। इसके अलावा किसी भी बस को बेड़े से बाहर नहीं निकल गया। सभी कर्मचारियों ने दोपहर तक डिपो में धरना प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की।

झज्जर में रोडवेज कर्मचारियों ने मांग को लेकर किया विरोध प्रदर्शन

वही झज्जर में भी किसान आंदोलन का असर देखने को मिला। यहां रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल का असर बसों पर नहीं दिखाई दिया। झज्जर में रोडवेज कर्मचारियों ने अपनी मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। सभी कर्मचारी बस स्टैंड के पास मौजूद हनुमान मंदिर में इकट्ठा हुए और आसपास के मार्ग पर गुजरते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

See also  Haryana Roadways News : पंजाब जाने वाले यात्रिओ के लिए खुसखबरी , हरियाणा रोडवेज ने दोबारा शुरू की इन रूटों पर बस सर्विस

कुरुक्षेत्र में भी कर्मचारियों ने बसों का किया चक्का जाम

अगर हम कुरुक्षेत्र की बात करें तो कुरुक्षेत्र में भी हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों ने बसों का चक्का जाम किया, जिस वजह से यात्रियों को काफी परेशानी हुई। हरियाणा रोडवेज की बस बंद होने से निजी बस चालकों ने यात्रियों को मोटा किराया देने पर मजबूर किया। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कर्मचारियों ने भी भारत बंद का समर्थन किया। इसके अलावा भी बहुत से विभाग में कर्मचारियों ने हड़ताल की।

सिरसा में हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों ने नहीं दी ड्यूटी

सिरसा में भी पुलिस ने सरकारी बसों का संचालन सुचारु रूप से करने के लिए रणनीति बनाई थी। लेकिन हड़ताल के कारण हरियाणा रोडवेज के कर्मचारी ड्यूटी पर नहीं आए। सभी कर्मचारियों ने डिपो के गेट पर धरना दिया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। यहां पर भी आम जनता को काफी परेशानी हुई।

See also  Rajsthan News: रोडवेज बसों में अब बुजुर्गों को मिलेगी 50 फीसदी की छूट, देखें कब से होगा लागू

गुरुग्राम में भी कर्मचारियों ने की हड़ताल

गुरुग्राम में भी कर्मचारियों ने हड़ताल की। पटवारी ने भी हड़ताल में शामिल होने की घोषणा की। इससे पहले भी गुरुग्राम पटवारी ने डेढ़ महीने तक हड़ताल की थी। कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से आम जनता को काफी परेशानी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker